view sexy images at influenza!
Hotstories.sextgem.com 18

देसी सेक्स
बीवी के सोते ही मैंने चुपके से बहार निकलने की कोशिश की लेकिन जैसे मैं अपना मोबाइल लेने गया वोह मेरे कदमो की आहट से उठ गई, मैंने नॉर्मली बिहेव किया और उसे कहा मुझे नींद नहीं आ रही इसलिए मैं बाहर जा के सिगरेट पी रहा हूँ. वोह वापस सो गई और मैं फट से बहार भागा. मैंने एक मिनिट तक लोबी में चक्कर लगाये और फिर धीरे से सुजाता के रूम के दरवाजे पे हल्का नोक किया. देसी सेक्स का नशा लौड़े पर चढ़ा था और वोह मेरी पेंट के अंदर मस्त तन गया था. मैंने जैसे नोक की सुजाता ने फट से दरवाजा खोला. मैंने देखा की वोह दूसरी एक बिकिनी पहने खड़ी थी और उसकी मस्त जांघे दिख रही थी. मुझे अंदर ले के उसने दरवाजा बंध किया और मैंने अभी भी उसकी गांड को ही देख रहा था. कुछ बोलने की जरुरत नहीं पड़ी इस रंडी भाभी को क्यूंकि वोह सीधी आके मेरी बाहों से लिपट गई और मुझे होंठो पर चूमने लगी. मेरा लंड उसकी चूत के आगे स्पर्श हो रहा था और वोह धीरे से अपना हाथ निचे ले आई उसका हाथ मेरे लंड को पेंट के अंदर सहलाने लगा था.

सुजाता ने तुरंत अपनी बिकिनी उतार दी, साली ने अंदर कुछ और नहीं पहना था. वोह भी देसी सेक्स के लिए तैयार बैठी थी. उसने जैसे अपनी चूत के ऊपर से बिकिनी हटाई उसकी घटादार झांटोवाली चूत देख के मैं सोचने लगा इसे चूत बोलूं या भोसड़ा क्यूंकि उसके उपर बहुत सारे बाल थे जिन्हें एक एक इंच लम्बा हो जाने तक काटा नहीं गया था. मेरी पेंट भी इस देसी सेक्स की प्यासी भाभी ने उतार दी.मुझे भी कब से देसी सेक्स की तलब लगी थी इसलिए लौड़ा क़ुतुब मीनार बना पड़ा था. सुजाता भाभी ने लौड़े को हाथ में ले के मुठ मारा और फिर सीधा अपने गरम गरम मुहं में ले लिया. उसका मुहं मेरे लंड पर चलने लगा और मेरे हाथ लम्बे हो के उसकी चूत के बालो से होते हुए उसके छेद में ऊँगली करने लगे. सुजाता भाभी लंड चूसते चूसते आह आह कर रही थी, उसकी आवाज लंड में ही दब जा रही थी. मुझे भी उसके चूसने से बहुत मजे आ रहा था. मैंने सुजाता भाभी का मुहं पीछे से पकड़ा और उसके मुहं में जोर जोर से लौड़ा घुसाने लगा. सुजाता भाभी के मुहं से ग्गग्ग्ग ग्गग्ग्ग्ग ऐसे आवाज निकलने लगी लेकिन वोह पूरा लौड़ा अपने मुहं में दबाये उसे चुस्ती रही. मैंने 69 जैसे पोजीशन बनाई थी लेकिन मैं उसे चूस नहीं रहा था, सच बताऊँ तो मैं उसके बाल से ही डर गया था. लेकिन मेरी ऊँगली उसे गरम करती थी और उधर मैं बीच बीच में उसे लौड़े से मुहं में चोदता था.

कुछ 10 मिनिट तक भाभी मेरा लौड़ा चुस्ती रही, उसे भी मेरी ताकत का अंदाजा हो गया था, लेकिन उसकी चूत भी अब लौड़ा मांगने लगी थी इसलिए उसने लौड़ा अपने मुहं से निकाला और खड़ी हुई. मैंने लौड़े को हाथ से पकड़ के हिलाया, लंड पूरा थूंक से भरा हुआ था. सुजाता ने पलंग के ऊपर लेटे हुए अपनी चूत को अपने हाथ से फैलाया. पहली बार मुझे चूत के अंदर की लाली दिखी, चूत भी देसी सेक्स मांग रही थी क्यूंकि उसके अंदर भी काफी प्रवाही निकला था. मैंने सुजाता भाभी के पास जा के उनके चूत के ऊपर मेरा 9 इंच लंबा लौड़ा रख दिया. मेरा लौड़ा एक ही झटके में इस गीली और रसीली चूत के अंदर घुस गया. भाभी और मैं झटके ले दे के देसी सेक्स के मजे लेने लगे और वोह मुझे कमर से पकड़ पकड़ के अपनी चूत मरवाने लगी. सुजाता भाभी पूरी रंडी थी क्यूंकि वो चूत में पूरा लंड ले के भी मुझ से और उम्मीदे कर रही थी. मेरा बस चलता तो लौड़ा काट के उसकी चूत में ही जिन्दगी भर के लिए ठूंस देता, साली मुझे जोर जोर से अपनी तरफ खिंच रही थी. मैंने भी उसे जितना जोर से लौड़ा अंदर दे सकता था उतने जोर से उसको ठोका.

भाभी की चूत को कुछ देर चोदने के बाद मैं हांफने लगा था लेकिन सुजाता तो अभी भी अपनी गांड हिला हिला के देसी सेक्स के मजे ले रही थी. मेरा लंड भी ऐसे चौड़ी चूत में आज तक गया नहीं था इसलिए मेरा स्खलन भी नहीं हो रहा था. तभी सुजाता भाभी उठी और उसने चूत को आगे लेते हुए लंड को बहार किया. मुझे लगा की वोह दूसरी पोजीशन में चुदवाना चाहती होंगी, लेकिन उसने तो लंड को पकड़ के अपनी बड़ी गांड में ले लिया. उसकी गांड बहुत गर्म और सख्त थी और मैं अब हिल के उसे ठोकने लगा. सुजाता भी आगे पीछे होके गांड का देसी सेक्स करने लगी. मेरा लंड इसकी गांड की गर्मी ज्यादा बर्दास्त नहीं कर पाया और कुछ झटको में ही मेरा वीर्य सुजाता भाभी की गांड के ऊपर निकल पड़ा. सुजाता भाभी ने अपनी गांड से वीर्य ले के अपनी चूत पर रगडा और वोह संतोष की सिस्कारियां लेने लगी. मैंने फट से कपडे पहने क्यूंकि बीवी अगर गलती से यहाँ आ गई तो देसी सेक्स तो क्या सेक्स में भी प्रॉब्लम आ जाती.

सुजाता भाभी इसके बाद तो मुझे हर हफ्ते फोन कर के बुलाती थी, मैं अक्सर उसे टाल देता था. कभी कबार मेरा मन करता तो मैं उसे जाके चोद लेता हूँ. हाँ उसकी सेक्स की भूख मिटाने के लिए मैंने उसे अपने दोस्त अनवर का नंबर दे दिया हैं, मुझे पता हैं अनवर उसकी चूत जरुर फाड़ देगा.

पहला पन्ना